10 Health and Nutrition Tips evidence based For Public Health – सार्वजनकि स्वास्थय के लिये 10 स्वास्थय वर्धक एवं Nutrition सुझाव

  1. चीनी के घोल को पीने से बचें (Don’t Drink Sugar Liquid) चीनी के घोल में सबसे अधिक मात्रा में वसायुक्त चीजें हैं जिसके सेवन से वो शरीर में प्रविष्ट संग्रहित हो जाता है ।

शक्कर के तरल पेय से मोटापा, टाइप 2 मधुमेह, हृदय रोग और स्वास्थ्य समस्याओं के सभी प्रकार की खतरनाक बीमारियों का होना लगभग तय माना जाता है।

लेकिन ये बात भी समझाने लायक है कि फलों के रस का सेवन में भी लगभग उतना ही मीठापन होता है जितनी की चीनी का और उनमें उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट की छोटी मात्रा चीनी के हानिकारक प्रभावों को अस्वीकार नहीं करती है।

2. बादाम खाने के फायदें – (Benefits of eating nuts) भले ही बादाम में वसा की मात्रा ज्यादा होती है इसके बावजूद, बादाम अविश्वसनीय रूप से शरीर को पौष्टिक और स्वस्थ बनाये रखने का काम करता हैं। बादाम मे  मैग्नीशियम, विटामिन ई, फाइबर और विभिन्न अन्य पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा होती है। अध्ययनों से पता चलता है कि बादाम वजन कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं, और इसके साथ ये 2 मधुमेह और हृदय जैसे खतरनाक रोग से लड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त, बादाम में कैलोरी के लगभग 10-15% शरीर में भी अवशोषित नहीं होते हैं, और वे चयापचय को बढ़ावा दे सकते हैं। जिससे कि digestion strong होता है एक अध्ययन में, जटिल कार्बोहाइड्रेट की तुलना में बादाम के द्वारा वजन घटाने में 62% तेजी से वजन घटाया जा सकता है।

3. संसाधित जंक फूड यानि fast food से बचें (इसके बजाय वास्तविक भोजन खाएं) – (Avoid Junk Foods eat Home Foods)आहार में सभी तरह के जंक फूड बीमारियों व अस्वस्थ होने के सबसे बड़ा कारण है कि दुनिया पहले से कहीं ज्यादा खराब और बीमार है। इन खाद्य पदार्थों को और तरह तरह की बीमारियों का पैदा करने का जरिया बना दिया गया है, और हमे इतने अधिक अच्छे लगते है कि घर में बने भोजन के अलावा हमे इस तरह के fast food खाना ज्यादा अच्छा लगता है  यहां तक ​​कि कुछ लोगों में लत का कारण भी यह बन जाता है।इनमें फाइबर, प्रोटीन और सूक्ष्म पोषक तत्वों (खाली कैलोरी) की कमी होती हैं, लेकिन अतिरिक्त चीनी और परिष्कृत अनाज जो कि कई तरह के बीमीरियों के कारण होते है उन अवयवों की प्रचुर मात्रा इनमें उच्च होती हैं।

4. कॉफी का सेवन अवश्य करें – (Drink Coffee to better Health )कई जगह काफी के सेवन को गलत तरीका से शरीर के अस्वस्थ होने का कारण बताया गया है लेकिन वास्तविकता यही है कि यह वास्तव में शरीर के लियें बहुत स्वास्थयवर्धक है। कॉफी मे एंटीऑक्सीडेंट की प्रचुर मात्रा होती है, और अध्ययन यें बताते हैं कि कॉफी पीने वाले लंबे समय तक जीवित रहते हैं, और टाइप 2 मधुमेह, पार्किंसंस रोग, अल्जाइमर और कई अन्य बीमारियों का कम जोखिम होता है।

5. मछली का सेवन स्वास्थय शरीर के लियें रामबाण – (benefits of eating fish to be healthy) बहुत ज्यादा लोग सहमत हैं कि मछली का सेवन शरीर के लियें स्वस्थ होता है। इसमें सैल्मन, जो ओमेगा -3 फैटी एसिड और कई अन्य पोषक तत्वों से भरा हुआ है, पाया जाता है,  अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग सबसे ज्यादा मछली खाते हैं, उनमें हृदय रोग, डिमेंशिया और अवसाद सहित सभी प्रकार की बीमारियों का कम जोखिम होता है।

6. पर्याप्त नींद लेंना स्वास्थय के लिये लाभदायक (sleep completely is best for Healthy Fitness ) – ज्यादा सोना शरीर के लियें लाभदायक नही होता है, लेकिन पर्याप्त नींद लेना शरीर के लिये बेहद जरूरी है । यह आहार और व्यायाम जितना महत्वपूर्ण हो सकता है।खराब नींद या पूरी तरह से नींद न लेना इंसुलिन प्रतिरोध को प्रभावित कर सकती है, और आप शारीरिक और मानसिक से परेशान हो सकते है ।इसके अलावा, यह भविष्य के वजन बढ़ाने और मोटापे के लिए व्यक्तिगत जोखिम कारकों में से एक है। एक अध्ययन से पता चला है कि छोटी नींद बच्चों में मोटापे के 89% और वयस्कों में 55% से जुड़ी हुई है।

7. प्रोबायोटिक्स और फाइबर के सेवन से आंतों से जुडी सम्स्याओं का समाधान –  (Take Care of Your Gut Health With Probiotics and Fiber)आपके आंत में बैक्टीरिया, जिसे सामूहिक रूप से आंत माइक्रोबायोटा के रूप में भी जाना जाता है, को कभी-कभी “भूल गए अंग” के रूप में में भी सम्बोधित करते है। आंत, बैक्टीरिया में एक व्यवधान मोटापे सहित दुनिया की सबसे गंभीर पुरानी बीमारियों से जुड़ा हुआ है। आंत सम्बन्धित समस्याओं मे सुधार करने का यह एक अच्छा तरीका है प्रोबियोटिक खाद्य पदार्थ (जैसे लाइव दही और सायरक्राट) खाना, प्रोबियोटिक पूरक लेना, और बहुत सारे फाइबर खाते रहना हैं। आंत बैक्टीरिया के लिए ईंधन के रूप में फाइबर कार्य करता है। 

8. भोजन से पहले विशेष रूप से कुछ पानी पीएं  (Drink Some Water, Especially Before Meals) – पर्याप्त पानी पीना सेहत के लियें बहुत लाभदायक होता है, एक महत्वपूर्ण कारक यह है कि यह आपके द्वारा जली हुई कैलोरी की मात्रा को बढ़ावा देने में यह मदद कर सकता है। अध्ययनों के मुताबिक, यह 1-1.5 घंटे की अवधि में चयापचय को 24-30% तक बढ़ा सकता है। यदि आप प्रति दिन 2 लीटर (67 औंस) पानी पीते हैं तो यह 9-6 अतिरिक्त कैलोरी जला दिया जा सकता है।पानी पीने का सबसे अच्छा समय भोजन से आधे घंटे पहले है। एक अध्ययन से पता चला है कि आधा लीटर पानी, प्रत्येक भोजन से 30 मिनट पहले, वजन घटाने में 44% की वृद्धि हुई है।

9. नींद से पहले चमकदार रोशनी से बचें (Avoid Sleep with Brightness Light)जब हम शाम को उज्ज्वल रोशनी के संपर्क में आते हैं, तो यह नींद, हार्मोन मेलाटोनिन के उत्पादन में बाधा डालता है। जिससे कि आखों की रोशनी जाने का खतरा और बढ जाता है इसलियें मेलाटोनिन की मात्रा को बनायें रखने के लियें बहुत तरीके है जैसे कि आधुनिक चश्मों का प्रयोग करना यह ठीक उसी प्रकार से कायें करता है जैसे कि यह पूरी तरह से अंधेरा हो, जिससे आप बेहतर नींद में मदद कर सकें।

10.सासों से बदबू की समस्याओं को खत्म कर देता है इलायची:  यदि आप बुरी सांस लेने से पीडित है और हर प्रकार की उपायों की कोशिश करने के बावजूद समस्यओं का समाधान नही हुया है, तो एलाइची को आज़माएं। मसाला जीवाणुरोधी गुणों से भरा हुआ है, इसमें एक मजबूत स्वाद और सुखद गंध है। इसके अलावा, यह आपके पाचन तंत्र को बेहतर बनाने में मदद करता है – जिसे बुरी सांस के प्रमुख कारणों में से एक माना जाता है – यह समस्या के मूल कारण को कम करने में बहुत प्रभावी है।
युक्ति: भोजन के बाद elaichi के एक फली को अलगकर चबायें। आप वैकल्पिक रूप से अपने पाचन तंत्र को detoxify और मजबूत करने में मदद करने के लिए हर सुबह कुछ elaichi चाय पी सकते हैं।