Joint knee inflammation pain indicate to arthritis symptom – घुटनों में दर्द व सुजन का होना सकेंत है गठिया रोग होने का, जाने कैसे

arthritis या गठिया जिसे संधिशोथ के नाम से भी जाना जाता है यह एक प्रकार की जोड़ों की सूजन (knee inflammation) से जुडी हुयी समस्या होती है, जोकि शरीर में उपस्थित सभी प्रकार के जोड़ो में अपना प्रभाव बना सकती है। arthritis problems (गठिया की समस्या) या arthritis symptom (गठिया के होने वाले लक्षणों) की बात करे तो ये आमतौर पर समय के साथ विकसित होते रहने वाली समस्यों में से एक हैं, लेकिन ये अचानक भी दिखाई दे सकती हैं। इस तरह की समस्ययों में एक बहुचर्चित समस्या है, Joint Knee Pain Problems यानि की घुटनों की जोड़ो में होने वाले दर्द । जिसमें कि  जोडों के बीच बहुत ज्यादा दर्द होता है ।

आमतौर पे ये देखा गया है कि संधिशोथ यानि गठिया 60 से वर्ष से अधिक उम्र वालों में पाया जाता है, हालांकि यह समस्या किसी भी उम्र के लोगों में पायी जा सकती है जैसे कि – बच्चों, टीनेट और युवाओं में इसके विकसित होने के अवसर हो सकते है। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में गठिया अधिक होता है खासतौर से उनमें जिनका वजन ज्यादा हो।

रोचक जानकारी – arthritis या गठिया एक ऐसी आम समस्या है जिसको पूरी तरह से खत्म तो नही किया जा सकता है, लेकिन इससे होने वाले प्रभाव को कम किया जा सकता है ।

गठिया (आर्थराइटिस) के प्रकार – Types of Arthritis 

arthritis मुख्य तौर पर दो प्रकार के होते है

1.ऑस्टियोआर्थराइटिस (osteo arthritis) – osteoarthritis को हिन्दी में अस्थिसंधिशोथ के नाम से जाना जाता है, यह गठिया से ही सम्बन्धित एक समस्या है। यह knee joint pain (जोड़ों में दर्द) और knee inflammation (घटनों के सूजन) के साथ-साथ उनकी हिलने-ढुलने की गति में भी कमी कर देता है, मतलब की इंसान को movement करने मे भी समस्यायों का सामना करना पडता है । इस तरह की समस्या शरीर के छोटे छोटे जोड़ों में भी पायी जा सकती है, लेकिन आम तौर पर यह घुटनों, कूल्हों और रीढ़ की हड्डी के जोड़ों को प्रभावित करता है। आमतौर पर osteo arthritis treatment यानि कि ऑस्टियोआर्थराइटिस का उपचार पूरी तरह से नही हो सकता लेकिन कुछ osteo arthritis medicines या कुछ घरेलु उपचार (home remedies for osteo arthritis problems) करके हम इस जुडे दर्द को कर जरूर कर सकते है । osteoarthritis treatment से जुडे जानकारी के लियें यहां क्लिक करें ।

2.रूमेटाइड आर्थराइटिस (rhuematoid arthritis) – rhuematoid arthritis को हिन्दी में रूमेटी संधिशोथ के नाम से जाना जाता है जो कि अपनी लक्षणों के लियें विशेष तौर से जाना जाता है । इसमें  शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली अपने ही शरीर के ऊतकों पर हमला करने लगती है। जिसके कारण रुमेटाइड आर्थराइटिस जोड़ों की परतों को नुकसान पहुंचाने लगता  है, जिस कारण से उनमें दर्द और सूजन होने लग जाती है और अंत में इसके परिणामस्वरूप हड्डियां का घिसना या जोड़ों में विकृति होने जैसी समस्याएं का सामना करना पडता हैं। rhuematoid arthritis knee Joint inflammation  मतलब की रूमेटाइड आर्थराइटिस से घूटनों में हुयी सूजन शरीर के अन्य भागों को भी नुकसान पहुंचा सकती है। गंभीर रुमेटाइड अर्थराइटिस के कारण शारीरिक विकलांगता जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

rhuematoid शरीर के दोनों तरफ के जोड़ों को एक साथ प्रभावित करने में सक्षम होता है, जैसे  कि दोनों बाजू, दोनों कलाईयां या दोनों घुटने। और इसकी यही खासियत है जो इसको अन्य सभी प्रकार के अर्थराइटिस से अलग करती है। यह त्वचा, आंखें, फेफड़े, हृदय, खून या नसों को भी प्रभावित कर सकता है। पुरूषों से ज्यादा महिलाओं में आर्थराइटिस होता है। यह अक्सर मध्यम आयु वर्ग में शुरू हो जाता है, वृद्ध लोगों में यह बहुत आम होता है।

रोचक जानकारी – बहुत ही कम लोगो को मालूम होगा कि वाकई main reason of arthritis causes  (गठिया की समस्या का मुख्य कारण) हडिडयों की जोडो में उपस्थित उतक यानि की tissue  का है जिसकी उपस्थित हडिडयों की जोडो के बीच तरल पदार्थ को सुरक्षित रखने में सहायक होती है, यानि की जब उतक में किसी तरह समस्या आती है तो उसका प्रभाव सीधे हडिडयों की जोडो में उपस्थित तरल पर्दाथ में पडेगा और गठिया जैसी समस्यायों का सामना करना पडेगा ।

गठिया (आर्थराइटिस) के लक्षण- Symptoms of Arthritis  – 

कार्टिलेज एक tissue यानि की उतक है जो कि हमारे शरीर मे पाया जाता है जो  जोड़ो के बीच रहने वाला एक नर्म और लचीला ऊतक (टिशु; tissue) है। जब आप चलते हैं तो और इसका मुख्य कार्य  जोड़ों पर पड़ने वाले दबाव  से होने वाले प्रेशर और शॉक को अवशोषित (absorption) करके यह जोड़ों को किसी भी होने वाली समस्या से बचाता है। कार्टिलेज ऊतकों की मात्रा में कमी से कई प्रकार के गठिये होते है।

  1. सूजन के साथ दर्द होना
  2. शरीर के जोड़ों में काफी दर्द का एहसान होना, यह दर्द सुबह नींद से जागते समय अधिक होता है
  3. जोड़ों में दर्द, अकड़न या सूजन  होना
  4. गांठें बन जाती हैं और शूल चुभने जैसी पीड़ा होना
  5. थकान, वजन कम होना, हल्‍का बुखार और त्‍वचा पर रेशेज पड़ने की शिकायत हो जाना
  6. अगर आपको होने वाले दर्द किसी चोट के कारण न हो अथवा वह दर्द पहले से किसी कारण से न हो और यह दर्द एक सप्‍ताह से अधिक समय से चल रहा हो, तो आपको फौरन डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए।
  7. अगर आपके जोड़ों में सूजन आ जाए। और यह सूजन किसी चोट के कारण न हो, तो भी यह Arthritis  का लक्षण हो सकता है।
  8. अगर आपकी तबीयत लगातार खराब हो और आपको बुखार हो तो यह Symptoms of Arthritis हो सकता है।
  9. अगर जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द के कारण आपको अपने रोजमर्रा के काम करने में परेशानी हो रही हो, तो एक बार आपको diagnose arthritis (अर्थराइटिस की जांच) करवा लेनी चाहिए।
  10. भारी चीज को उठाते समय कमर में दर्द होना और arthritis medication  यानि की अर्थराइटिस दर्द निवारक दवायें लेने और उस पर गर्माहट लेने का भी फायदा न हो। तो यह भी अर्थराइटिस का ही एक लक्षण है।
  11. जोड़ों में सूजन और कोमलता आ जाना और जोड़ों को छूने से दर्द का अहसास होना
गठिया (आर्थराइटिस) से बचाव के उपाय (Arthritis Prevention Tips) – अर्थराइटस एक गंभीर बीमारी है जिसका उपचार समय रहते करना बेहद जरुरी है। कुछ विशेष बातों का ध्यान ऱखकर हम Arthritis Problem से होने वाले दर्द को कम कर सकते है – 
  1. संतुलित आहार और सरल जीवन शैली को अपनाना
  2. ज्यादा यूरिक एसिड होने का कारण से Joint Knee Pain Problems घूटने में सूजन आताी है इसलिये fast food खाने से बचें
  3. स्वस्थ जीवन शैली को अपनाएं
  4. कुछ अनुचित खाद्य पदार्थों को छोड़कर, गठिया और उसके असहनीय दर्द से आराम पाया जा सकता है
  5. योगा करके इस समस्या से होने वाले दर्द को कम किया जा सकता है
  6. व्यायाम करना भी होता है मददगार
  7. ज्यादा मोटापा भी कारण हो सकता है Arthritis Causes का

जोड़ो मे सूजन व दर्द हो सकती है, Rheumatoid Arthritis की समस्या
घुटनों में सूजन हो सकती है, Osteo Arthritis की समस्या