joint pain problem may be reason of Rheumatoid Arthritis – जोड़ो मे सूजन व दर्द हो सकती है, Rheumatoid Arthritis की समस्या

रूमेटाइड आर्थराइटिस (Rheumatoid Arthritis) – Rhuematoid Arthritis को हिन्दी में रूमेटी संधिशोथ के नाम से जाना जाता है जो कि अपनी लक्षणों के लियें विशेष तौर से जाना जाता है । इसमें शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली अपने ही शरीर के ऊतकों पर हमला करने लगती है। जिसके कारण रुमेटाइड आर्थराइटिस जोड़ों की परतों को नुकसान पहुंचाने लगता  है, जिस कारण से उनमें दर्द और सूजन होने लग जाती है और अंत में इसके परिणामस्वरूप हड्डियां का घिसना या जोड़ों में विकृति होने जैसी समस्याएं का सामना करना पडता हैं।Rhuematoid Arthritis knee Joint Inflammation  मतलब की रूमेटाइड आर्थराइटिस से घूटनों में हुयी सूजन शरीर के अन्य भागों को भी नुकसान पहुंचा सकती है। गंभीर रुमेटाइड अर्थराइटिस के कारण शारीरिक विकलांगता जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं।

रूमेटाइड आर्थराइटिस  के लक्षण (Rheumatoid Arthritis Symptoms)

Rheumatoid Arthritis शरीर के जोड़ों की बीमारी है जो कि  पूरे शरीर को प्रभावित करती है। इस बीमारी से शरीर के जोडों दर्द, अकड़न, गर्मी तथा  सूजन की समस्‍या साफ साफ देखी जा सकती है। यह भी arthritis type यानि  गठिया  का एक प्रकार है जिसमें समय के साथ जोड़ों का आकार बदल जाता है। कई बार शरीर के जोड़ टेढ़े हो जाते हैं व उनकी क्षति भी हो सकती है।

Rheumatoid Arthritis में जोड़ों के ऊतक यानि कि tissue मोटे हो जाते हैं और अपने आसपास के मांसपेशियों, हड्डियों को भी नुकसान पहुंचाते हैं,  यदि कोई इस बीमारी का शिकार हो जाये तो यह उस व्‍यक्ति के पूरे शरीर में फैल जाती है। यदि समस्‍या एक हाथ में होती है तो यह दूसरे हिस्‍से को भी प्रभावित करती रहती है। यदि यह घुटने में है तो दूसरा घुटना भी इसकी चपेट में आयेगा। आये जाने कुछ Rheumatoid Arthritis Symptoms के लक्षण के बारे में – 

  1. यह पूरे शरीर में फैलने वाली ऐसी बीमारी है, जिसके कारण मसल्‍स और हड्डियां ज्‍यादा प्रभावित होती हैं।
  2. सुबह और दोपहर के समय थकान, दर्द और अकड़न का होना
  3. भूख न लगना, बुखार, पसीना, थकान का होना
  4. शरीर में हाथ, कुहनी, कलाई, कंधे, कुल्हे, घुटने, टखने और गर्दन जैसे शरीर के भाग भी इससे प्रभावित होते है
  5. यह बीमारी होने पर त्वचा के नीचे रयूमेटाइड नाड्यूल या ढेले बनने लगते हैं, यह ट्यूमर की तरह होते हैं, लेकिन इनमें दर्द नहीं होता है।
  6. Rheumatoid Arthritis होने पर व्‍यक्ति को सोने में सबसे ज्‍यादा परेशानी का सामना करना पडता है, रात में सोने के दौरान व्‍यक्ति को सोने में अत्यन्त पीड़दायक  होती है। इसकी वजह से व्‍यक्ति अनिद्रा का शिकार भी हो सकता है।
  7. इस बीमारी का एक कारण <a href=”http://bumpercollections.com/treatment-of-depression/”>Depression</a>  भी हो सकता है , जिसके कारण आदमी को लगातार तनाव और डिप्रेशन बना रहता है।
  8. यह बीमारी धीरे-धीरे शरीर को कमजोर बना देती है तथा इसके कारण शरीर ज्‍यादा गतिशील भी नहीं रहता है। खासकर जोड़ों को हिलाने में परेशानी होती है।
  9. भूख न लगना, हल्‍का बुखार, पसीना आदि भी इस बीमारी के लक्षण होते है ।

 रोचक तथ्य –  जिन लोगो में इस बिमारी  के लक्षण कम पाये जाते है वे ज्यादातर दर्द और अकड़न से परेशान रहते हैं और उनके जोड़ों में ज्‍यादा नुकसान नहीं होता है। यदि आपको भी कुछ ऐसे लक्षण दिखें तो चिकित्‍सक से संपर्क कीजिए।

Rheumatoid Arthritis से बचाव के उपाय (Rheumatoid Arthritis Prevention Tips) –

1.घरेलू नुस्‍खों द्वारा Rheumatoid Arthritis का उपचार ( Rheumatoid Arthritis Home Remedies Tips) – घरेलू नुस्‍खों का प्रयोग करके भी रयूमेटाइड अर्थराइटिस का उपचार करके, इससे होने वाले knee join pain से छुटकारा मिल सकता है ।

कुछ रयूमेटाइड अर्थराइटिस अन्य  घरेलु तरीके भी अपनायें  (Some Rheumatoid Arthritis Home Cure Treatment) – 

  • अधिक दर्द हो तो आप सन बॉथ ले सकते हैं।
  • 5 से 10 ग्राम मेथी के दानों का चूर्ण बना कर सुबह पानी के साथ लें।
  • से 5 लहसुन की कलियों को एक पाव दूध में डाल कर उबाल कर पीने से आराम मिलता है।
  • लहसुन के रस को कपूर में मिला कर मालिश करने से दर्द में आराम मिलता है।
  • लाल तेल से मालिश करना भी आरामदायक होता है।
  • गर्म दूध में हल्दी मिला कर दिन में दो से तीन बार पीने से फायदा होता है।

2. प्राकतिक खानपान है मददगार जोडो के दर्द में कमी लाने के लियें (Natural Diet for Rheumatoid Arthritis Relief ) – रयूमेटाइड अर्थराइटिस की समस्‍या हो तो अपने खानपान पर विशेष ध्‍यान दीजिए। अपने आहार में 25 प्रतिशत फल व सब्जियों को शामिल कीजिए। फलों में संतरे, मौसमी, केले, सेब, नाश्पाती, नारियल, तरबूज और खरबूज शामिल कीजिए। हरी और ताजी सब्जियों का सेवन कीजिए, सब्जियों में मूली, गाजर, मेथी, खीरा, ककड़ी आदि शामिल कीजिए। चोकरयुक्त आटे का प्रयोग करें क्योंकि इसमें फाइबर अधिक मात्रा में होता है।

3. जोड़ो के दर्द को कम करने में दवायें भी है मददगार  (Rheumatoid Arthritis Medication for Joint knee Pain Relief) – कुछ दवाए रयूमेटाइड आर्थराइटिस के दर्द से राहत दिला सकती हैं। अधिक दर्द और सूजन हो तो आप चिकित्‍सक की सलाह से इन दवाओं का प्रयोग कर सकते हैं। चिकित्‍सक आपको नॉन स्टाराइडल एंटी इनफ्लेमेटरी दवायें खाने की सलाह दे सकता है। लेकिन इन दवाओं का साइड इफेक्‍ट भी हो सकता है जिसके कारण पेट में गडबडी, अल्सर, किडनी के काम करने कि क्षमता में कमी और एलर्जी की समस्‍या हो सकती है।

घुटनों में सूजन हो सकती है, Osteo Arthritis की समस्या
घुटनों में दर्द व सुजन का होना सकेंत है गठिया रोग होने का, जाने कैसे