know natural Benefits of Apricot Fruit for public health – जाने खुबानी फल के असरदार गुण जो रखते है शरीर को स्वस्थय

लाल फल खुबानी (Apricot fruit), बीटा कैरोटीन, विटामिन सी और फाइबर के युक्त एक ऐसा स्वास्थय वर्धक फल (– a health food package) है जोकि न केवल स्वाद में भी अच्छा है बल्कि ये पूर्ण रूप से एक healthy fitness package  भी है जिसके लाभ को अनदेखा करना मुश्किल है। यह साल के 12 महीनों उपलब्ध है और मुख्यतः हिमाचल प्रदेश, जम्मू – कश्मीर जैसे प्रदेशों में इनकी फसल पायी जाती हो । एंटीऑक्सीडेंट से भरा, खुबानी फल अन्य फलों की तुलना में शरीर में किसी भी प्रकार की कमी को नवीनीकृत करने का एक बेहतर विकल्प है।

खुबानी फल में पाये जाने वाले Nutrients (Nutrients of Apricots) – खुबानी फल बिटामिन A, C  और बिटामिन B का एक बड़ा श्रोत है जिसमें कि Antioxidants के रुप में Quercetin, Gallic acid, Caffeic acid, Catechins, Hydroxycinnamic जैसे तत्व पायें जाते है, जिसमें Antioxidants का कार्य शरीर में उपस्थित सभी प्रकार की समस्यायों का निवारण करना होता है ।

खुबानी फल का कार्य और इससे होने वाले फायदे (Functions and benefits of Apricot) – लगातार खुबानी फल के सेवन से कैंसर, बुखार, पाचन से समबन्धित समस्याओं का निवारण हो जाता है, खुबानी के तेल से भी शरीर के मांसपेशियों में होने वाले दर्द और त्वचा से समबन्धित सम्सयायों को जड से खत्म कर देता है ।

1. आंखों के लियें है फायदेमंद – (Beneficial for eyes) – खुबानी फल में प्रचुर मात्रा में कैरोटीनोइड की उपस्थिति होने के कारण ये आंखों की रेटिना को व आंखों की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद करती है, और खुबानी की नियमित सेवन से ये सब समस्या को जड से खत्म करने में भी मदद करती है।

2.सुजन को कम करने में सहायक (helpful to Anti-inflammatory) – खुबानी फल में मौजूद कैटेचिन एंटीऑक्सीडेंट रक्त धमनियों और शरीर के अन्य हिस्सों की सूजन को कम करने को नियंत्रित करता है, उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी ये मदद करता है।

3.पाचनशक्ति को बनाये मजबूत  ( Aids Digestive system ) – खुबानी तंतुमय यानि Apricots fibrous कि बनावट पाचन तंत्र (digestive system) के लिए बहुत ही उपयोगी है, विशेष रूप से खुबानी में उपस्थित प्रचुर मात्रा में एंजाइमों और उसके तंतुओं के कारण रेचक प्रभाव पड़ता है, जो आंत्र के अन्दर पाचन की क्रिया को तेज करने के लिए प्रेरित करता है। गैस्ट्रिक रस उत्तेजित होते रहते हैं और पुरानी कब्ज समस्याओं की रोकथाम मे मदद करते हैं। इसका नियमित सेवन से पूरे पाचन तंत्र की मांसपेशियों को बहुत ही लाभ होता है।

4. कैंसर के रोकथाम में है मददगार (help to Fights Cancer) – खुबानी फल के बीज में जो तेल होता है उसमें प्रचुर मात्र में विटामिन बी 17 पाया जाता है जो कैंसर कोशिकाओं को समाप्त करता है, और कैसर रोगियों को इस खतरनाक बीमारी से लडने के लियें सहायक होता है।

5. खून की कमी की समस्या का निवारण (Treats Anemia related Problem) – खुबानी फल में लौह और तांबा प्रचुर मात्रा में होता है जो हीमोग्लोबिन बनाने में प्रतिक्रिया करता है। हीमोग्लोबिन की कमी को ही एनीमिया (Anemia Treats) कहा जाता है, जो शरीर की पूरी प्रणाली (health system) को कमजोर करता है, शरीर की थकान; पाचन समस्याएं और कई अन्य समस्याएं इससे संबंधित हैं। जब शरीर अधिक आरबीसी (RBC) बनाता है तो ये समस्याएं दूर होती जाती हैं। तो खुबानी हर दिन नाश्ते और स्नैक्स के लिए आपका आहार होना चाहिये । खुबानी में पाया जाने वाल लौह, लाल कोशिकाओं (RBC) को बनाने में मदद करता है और शरीर के सामान्य कार्यों के लिए चयापचय (healthy digestive system) को बढ़ावा देता है।

 6. हडडियों को मजबूत करने मे सहायक (Treats Healthy Bones) – खुबानी फल में प्रचुर मात्रा मे अधिकांश महत्वपूर्ण खनिज (important minerals) होते हैं जो हड्डी को मजबूत करने मे मदद करते हैं इसके अलावा कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, लोहे आदि महत्वपूर्ण खनिज इस फल में होने के कारण, इसका सेवन करने से हडडी की मजबूती और कई गुना बढ जाती है। इसका नियमित उपयोग हड्डियों को मजबूत करने में सहायक होगा और ऑस्टियोपोरोसिस को दूर करने में मदद करेगा।

7.ठंडा और फ्लू से दूर रखने मे मददगार (Safe from Cold and flu) – खुबानी फल आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली (immune system) को मजबूत बनाने में मदद करते हैं, इसलिए यह बुखार और ठंड का प्रतिरोधी होकर इन समस्यायों से बचने में हमारी मदद करते है।

8.शरीर में electrolytes  की मात्रा संतुलित बनाये रखना (Maintains the balance of electrolytes in body)- खुबानी फल में मौजूद पोटेशियम और सोडियम खनिजों तरल की प्रचुर मात्रा तरलता और उसके प्रवाह को बनाए रखने में सहायक होते है जो इलेक्ट्रोलाइटिक प्रणाली (electrolytes system) को आसानी से चलकर शरीर के प्रत्येक हिस्सों में निरंतर प्रवाह सुनिश्चित करने में बहुत महत्वपूर्ण होता है। उचित प्रणाली शरीर के ऊर्जा स्तर को बढ़ावा देने, ऐंठन में कमी होने वाली समस्या का निवारण करता है।

9.त्वचा समबन्धित समस्यायों का निवारण करने में सहायक (helpful to Cure skin problems ) – त्वचा की बीमारियों जैसे त्वचा और एक्जिमा की सूखापन, चेहरे मे होने वाले मुहांसे और त्वचा से समबन्धित समस्यायों का निवार करने में खुबानी तेल का अहम योगदान है। खुबानी तेल, जिसमें कि प्रचुर मात्रा मे विटामिन ए और ई होता है, उम्र बढ़ने से संबंधित समस्याओं, एक्जिमा और त्वचा की सूखापन का ख्याल रखता है। ये सभी समस्याएं खुबानी तेल के नियमित उपयोग करने से नियंत्रित होती हैं।

10.शरीर की रूखी त्वचा को मुलायम करने में सहायक  (helpful to Acts as moisturizer) – हाथों, बाहों और शरीर के अन्य हिस्सों रूखी त्वचा होने पर, खुबानी का तेल एक अच्छा मॉइस्चराइजर की तरह कार्य करता है। जो कि शरीर की त्वचा को मुलायम करने में सहायक होता है ।

खुबानी फल को ज्यादा उपयोग करने से बचें – अस्थमा रोगियों के लिए, सल्फर और इसके यौगिक उनके स्वास्थ्य के लिए सबसे उपयुक्त नहीं हैं।