know what is migraine 15 से 55 साल के लोग है माइग्रेन से पीडित – जानियें क्या होता है माइग्रेन

15 से 55 साल के लोग है माइग्रेन(migraine ) से पीडित – जानियें क्या होता है माइग्रेन

migration kya hai इसके बारे में अमेरिका के नेशनल हैडएक फाउंडेशन के मुताबिक, वहां करीब चार करोड़ लोगों को माइग्रेन की समस्‍या है। यह सिरदर्द 15 से 55 वर्ष की आयु के लोगों को अधिक परेशान करता है। ऐसे लोग जिनके परिवार में माइग्रेन का इतिहास है, उन्‍हें यह बीमारी होने का खतरा तीन चौथाई अधिक होता है। फाउंडेशन की रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि आधे से कुछ अधिक माइग्रेन पीडि़तों का सही निदान उनके चिकित्‍सकों द्वारा किया गया। हालांकि, कुछ मामलों में माइग्रन को चिंता से होने वाले सिरदर्द और साइनस सिरदर्द का रूप समझकर इलाज किया गया।

Migraine Problem Meaning in Hindi को हिन्दी में समझने के लियं अगर हम भारत की बात करे तों, यहां पर इस माइग्रेन से पीडित क्यक्तियों की संख्या करीब 12 % है, जिसमें कि लगभग हर उम्र दराज के लोग माइग्रेन से पीडित है । माइग्रेन होने का जो मुख्य कारण (migraine ke lakshan in hindi) है दिमाग में ब्लड सरकुलेशन (Blood Circulation) का अधिक हो जाना होता है ।

ब्लड सरकुलेशन (Blood Circulation) का अधिक होने के कारण, मतलब कि –

  1. तनाव से ग्रसित रहना (depression problem)
  2. ध्वानि व अत्यधिक रोशनी के प्रभाव से मस्तिषक मे जोर पडना (noise polution)
  3. पूर्ण रूप से नींद न लेना (not sleeping well)
  4. संतुलित आहार ठीक न होना (not taken health foot for healthy food)
  5. अत्यधिक शराब का सेवन करना (drinking too much)

ये जानकर आप जरूर आश्चर्य चकित होगें कि माइग्रेन से पीडित क्यक्ति का ळक्षण (migraine symptoms) यह भी होते है कि उसमें हमेशा ही बेवजह ज्यादा इधर उधर की तली हुयी चीजों का सेवन करना अच्छा लगता है यहां तक कि दिन में भी उनको बार बार उबासी लेते है मतलब की सोने का प्रयास करते रहते है लेकिन नींद नही आती है ।

पूरे विश्व में हर साल अरबों लोग माइग्रेन के सिरदर्द की समस्या से पीड़ित होते हैं। हालांकि माइग्रेन एक बहुत ही सामान्य विकार है। इसका सही कारण और इलाज ( migraine treatment and symptoms) अभी तक स्थापित नहीं हुआ है। हार्मोनल परिवर्तन, तनाव आदि माइग्रेन के सिरदर्द के कारण माने जाते है। अपनी जीवनशैली को ध्यान में रख कर इस समस्या को बड़ी मात्रा में नियंत्रित किया जा सकता है। आज हम आप को कुछ जरूरी बातें बता रहे हैं जिनसे आपको माइग्रेन की समस्या में बहुत लाभ होगा, ये सब घर में करने वाले इलाज है

इलाज (migraine treatment in home in hindi) है या माइग्रेन पीडित क्यक्ति इसको खुद अपने से कर सकता है –

  1. माइग्रेन से बचने का उपाय संतुलित आहार का सेवन – Foods To Eat For Migraine In Hindi
  2. माइग्रेन के दर्द के इलाज के लिए पर्याप्त नींद लें – Sleep Good For Migraines In Hindi
  3. माइग्रेन की समस्या में एक्सरसाइज करें – Exercise Helps Relieve Migraines In Hindi
  4. माइग्रेन सिरदर्द में अत्यधिक दवा का सेवन न करें – Avoid Excessive Medication For Migraine In Hindi
  5. माइग्रेन की समस्याओं के लिए शोर से बचें – Avoid Environmental Triggers For Migraine In Hindi

जानिये क्यों है इतना खतरनाक, माइग्रेन जिसका दुषप्रभाव से हो सकती है ये गम्भीर समस्यां –

  1. खतरनाक है माइग्रेन का ऐसा दर्द, छीन सकता है आंखों के देखने की क्षमता
  2. सिर ही नहीं पेट में भी होता है माइग्रेन का दर्द, जानिए एब्डॉमिनल माइग्रेन के लक्षण और कारण
  3. ब्रेन हेमरेज
  4. लकवा
  5. ब्लड सुगर की समस्या
  6. तनाव रहना