not sleeping well may be cause of heart attack – कम नींद लेने वाला हो सकता है हदय रोगी –

कम सोने से हदय रोग का दोगुना खतरा-

रात में पांच घंटे से कम सोने बाले अधेड़ उम्र के लोग सचेत हो जाएं । एक अध्ययन का दावा है कि कम सोने से ऐसे पुरूषों में हदय रोग का खतरा दोगुना हो सकता है । अपर्याप्त नींद की वजह से उन्हें आने वाले समय में हार्ट अटैक या स्ट्रोक तक का सामना करना पड़ सकता है, इसके अलावा उच्च कोलेस्ट्राल या high cholesterol के शरीर में होने से भी हार्ट अटैक हो सकता है । 

शोधकर्ताओं के अनुसार इस अध्ययन में अधेड़ उम्र के लोग कम नींद और हदय रोग के बीच जुड़ाव पर गौर किया गया । पूर्व के अध्ययनों में हालांकि इन स्थतियों के बीच संबध के विरोधीभाषी साक्ष्य मिले थे । स्वीडन की गोटेनबर्ग यूनिवर्सिटी के शोघकर्ता मोआ बेगेस्टन ने हा, व्यस्त रहने वाले रोग नींद को समय की बर्बादी मान सकते है, लेकिन हमारे अध्ययन से यह जाहिर होता है कि कम सोने से आने वाले समय में हदय रोग का सामना करना पड़ सकता है, यह निष्कर्ष 1463 लोगों पर 21 साल तक किए गए अध्ययन के आधार पर निकाला गया है ।

सात से आठ घंटें सोने वाले लोगों की तुलना में पांच घंटे से कम सोने वालों में उच्च रक्तताप, डायबिटीज और मोटापें की समस्या पाई गई ।

कई वायरस से बचाव करेंगी यूनिवर्सल फ्लू वैक्सीन

वैज्ञानिकों ने एक संभावित यूनिवर्सल इंफ्लुएंजा वैक्सीन तैयार की है । यह कइ वायरसों के लोगों का बचाव कर सकती है । शोधकर्ताओं के अनुसार, फ्लु के वायरसों के खिलाफ हेमग्लुटिनिन स्टाक नामक वैक्सीन की एंटीबाडी प्रतिक्रिया मजबूत पायी गई है । चुहों पर कियें गये परीक्षण में यह वैक्सीन कई प्रकार के फ्लू वायरसों से बचाव में खरी पाई गई है । इसमें यूनिवर्सन फ्लू वैक्सीन की संभवना दिखी । इस वैक्सीन को जीवन मे एक या दो बार लेने की जरूरत पड़ेगी ।

 

उच्च कोलस्ट्राल भी हो सकता है हदय रोग होने का कारण – (high cholesterol may be reason of heart disease) –