Effects of excess Carbohydrates is dangerous for long life – कार्बोहाइड्रेट का अत्य़धिक सेवन आपकी उम्र कम कर सकता है

आजकल की busy life मे खान पान में ध्यान न देना आम बात हो गयी है, जिसके कारण लोगों अपने स्वास्थय में ज्यादा नही दे पाते है और खास तौर पर अपने खान-पान में, जिसकी वजह से Carbohydrates से भरपूर मात्रा वाले खाघ पदार्थो का सेवन करते रहते है ।
शोघ के अनुसार शरीर में कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) की मात्रा न तो कम और न ही ज्यादा (excess carbohydrates) होनी चाहिये, ये दोनो होना शरीर के लियें बेहद ही नुकसान दायक है जोकि शरीर की आयु को कम करने प्रभावी है ।

Effects of Excess Carbohydrates या कार्बोहाइड्रेट का ज्यादा सेवन से सुगर की मात्रा शरीर मे अधिक हो जाती है जो कि कई खतरनाक बीमारियों का कारण बन जाती है – जैसे – Diabetic होना, heart से सम्बन्धित समस्या होना ।

लांसेट पब्लिक हेल्थ जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार 45 से 64 साल की आयु वर्ग के 15,428 वयस्कों को प्रतिभागी बनाकर शामिल किया गया। प्रतिभागियों में पुरुष 600-420 किलो कैलोरी ऊर्जा रोज ग्रहण किया करते थे, जबकि महिलाएं का 500-3600 किलो कैलोरी तक ग्रहण करने का अनुपात था। शोधकर्ताओं के आकलन के अनुसार, सीमित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की आयु आवश्यकता से कम कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में चार साल अधिक पाई गई, जबकि अधिक कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में एक साल अधिक थी।

कार्बोहाइड्रेट एक प्रकार का कार्बनिक पदार्थ है जो कि कार्बन, हाइड्रोजन व ऑक्सीजन का मिश्रण होता हैं। इसमें हाइड्रोजन व ऑक्सीजन का अनुपात की मात्रा, जल के समान होता है। कार्बोहाइड्रेट शरीर को गर्मी और चर्बी प्रदान करने के लिए कार्य करता है। शरीर को कार्बोहाइड्रेट दो प्रकार से प्राप्त होते हैं पहला माडी (स्टासर्च) के रूप में दूसरा शुगर के रूप में होता है। सबसे ज्यादा गेहूं, ज्वार, मक्का, बाजरा, मोटे अनाज, चावल, दाल और जडों वाली सब्जियों में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा पायी जाती है जिसे माडी के नाम से भी जाना जाता है।

लम्बी आयु जीने कि लियें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा (deficiency of carbohydrates) बहुत ही संतुलित लेना चाहियें जिससे कि शरीर में शुगर की मात्रा भी नियत्रित होती है और खतरनाक रोगों से बचने में भी सहायक होते है ।

excess carbohydrates diseases, effects of excess carbohydrates, under consumption of carbohydrates, too much carbohydrates can cause, too much carbohydrates side effects, deficiency of carbohydrates, diseases caused by too much carbohydrates, effects of too little carbohydrates, negative effects of simple sugars, negative impacts on the body of too much carbohydrates, bad things about carbs, positives and negatives of carbohydrates, over consumption of carbs, diabetic diet

नोट- केला, अमरूद, गन्ना, चुकंदर, खजूर, छुआरा, मुनक्का, अंजीर, शक्कर, शहद, मीठी सब्जियां तथा सभी मीठे खाद्य पदार्थों में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है जो कि अत्यधिक शक्तिशाली और स्वास्‍‍थ्य के लिए लाभदायक होते हैं। शरीर में इनकी अधिकता से अनेक खतरनाक बीमारियां जैसे- अतिसार, मधुमेह आदि रोग हो जाते हैं और कार्बोहाइड्रेट युक्त खाना खाने से वजन बहुत तेजी से बढता है।

कैसे कार्बोहाइड्रेट का सेवन करें संतुलित – (how to manage Carbohydrates Food Diet)
आप अपने दैनिक आहार योजना में कार्बोहाइड्रेट युक्त खाने की मात्रा को कम करके मोटापा पर नियंत्रण पा सकते हैं। खाने में अधिक कार्बोहाइड्रेट युक्त चीजों के प्रयोग से परहेज करें। लेकिन एकदम से डाइट में से कार्बोहाइड़्रेट्स न लेना बिल्कुल गलत है। कई बार लोग यह सोचते हैं कि कार्बोहाइड्रेट्स फैट बढ़ाने के सिवा और कुछ नहीं करता। जबकि इनसे हमें जरूरी अमाउंट में एनर्जी मिलती है। इसके लिए आप ब्रेड, चपाती वगैरह के ऑप्शन पर जा सकते हैं लेकिन negative impacts on the body of too much carbohydrates यानि की कार्बोहाइड्रेट की अधिकता के नकारात्मक असर शरीर में न पडने दें । इसंलिए नियमित रूप से खाने में कम कार्बोहाइड्रेट युक्त आहार सब्जी, फल, सूप, जूस और खीरे के सलाद आदि का सेवन कीजिए।

Bad things about Carbs यानि की कार्बोहाइड्रेट का नकारात्मक प्रभाव यही है कि वो शुगर की मात्रा शरीर में इतनी बढा देता है जिससे कि मधुमेह या हदय से सम्बन्धित बीमारियों के होने की सम्भावना बढ जाती है, जो कि आपके लियें जानलेवा भी हो जाती है ।

जल्दी वजन घटाने के लियें देखें ये असरदार तरीका